परामर्श एवं उपदेश केन्द्र संवर्धनीय / विकासशील बाजारों / उद्यमियों के परामर्श की आवश्यकताओं को पूरा करने वाला प्रधान केन्द्र है जिसमें लघु और मध्यम आकार के 41 उद्यमों के लिए एक ही स्थान पर तकनीकी एवं प्रबन्धन संबंधी आवश्यक परामर्श दिया जाता है।

इस केन्द्र का मुख्य उद्देश्य परियोजना निर्माण एवं मूल्यांकन, क्षमता निर्माण, कार्यान्वयन आदि के बारे में सहायता तथा मार्गदर्शन प्रदान करना और अद्यान्त सेवाएँ प्रदान करना है। केन्द्र द्वारा प्रौद्योगिकी से संबंधित सेवाएँ, परियोजनाओं के बारे तरकीबें, परिवर्तनशील सुझाव देने तथा परियोजनाओं की निर्यात की क्षमता बढ़ाने के लिए आवश्यक सहायता प्रदान की जाती है। परियोजनाओं के निर्माण एवं मूल्यांकन, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण, तकनीकी प्रबन्धकीय परामर्श एवं सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्यमों के लिए अद्यान्त सेवाओं पर भी यह खास तौर पर ध्यान केंद्रित करता है।

केंद्र के प्रमुख उद्देश्यों में महत्वपूर्ण परिणाम वाले क्षेत्रों (की रिज़ल्ट एरिया) में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों के लिए औद्योगिक तथा तकनीकी परामर्श सेवाएं उपलब्ध कराना, प्रौद्योगिकी औऱ बाज़ार के संभावित क्षेत्रों के बारे में विशिष्ट उद्योग अभ्यास, महत्वपूर्ण परिणाम वाले क्षेत्रों की पहचान के लिए परामर्श सेवाओं के लिए पैकेज तथा संपूर्ण सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों के प्रदर्शन में सुधार के साथ ही उनके प्रभावी संचालन और उपचारात्मक अध्ययन के लिए विशिष्ट तरीके की खोज करना शामिल है।